Slider Widget

5/recent/slider

हाल की पोस्ट

जो मुझे अधूरा जानते हैं
तुम्ही ने तो कहा था.....
एक उम्र खर्च कि हैं तुमपे
कुछ इस तरह मेरी यादें
चेहरा मासूम लिए............
ये दिल फिर तुम्ही पर
तुम जुनून हो
जरा सा रूठना भी
बुढ़ापे को अपने साथ से निखारना
उरेंगा गुलाल
उजालों की शाम में ही
मिलेंगे बहुत जल्द किसी मोड़ पर
वक्त ही तो हैं
गृहणी हूं मैं
दिल की आवाज़
कुछ दूरी बनी रहे तो ही अच्छा
लबों पर एक झूठी मुस्कान रखते हैं
कन्यादान सा कोई दान नहीं
उल्फत ऐ इश्क़
सच से वाकिफ हैं ये दिल
तुम्हारी जिद्द से तुम्हारी हद्द तक
हमे यकीन था..
अनमोल यादें ♥️
जिएंगे तेरे बाद भी...…
भारतवासी हैं अधिकारी🙏
शिद्धत वाला प्यार बेरोजगारी में ही होता है
बेहद उपालंभ है तेरे इश्क़ से
कुछ तो खोया है उसने भी
कुछ ख्वाहिशें पूरी नहीं होती
कभी-कभी अकेलापन खलती है
वो कहाँ समझ पाऐगा
तुम इश्क़ हो
बेफिक्र आजाद रहने वाली
नारी सीसक मौन है
इस कदर तुम्हें चाहना है ❤
 खामोशी भी बहुत कुछ कहती हैं
तुम्हें इस कदर नजरअंदाज करना है
दोस्ती हर फह निभा जाउ
कितना मुश्किल होता है ❤
बेसक इस हालात के 😔
इश्क़ बेपनाह है तुमसे ❤
काश ! कुछ काश ! ना होता
चाहतो की मंजरो से
चन्द्रगुप्त की विजय का
अभी अभी तो जगा हूँ
एक गुज़ारिश है रब से
अदब अदब में गजब कर जाते हैं
अधूरी ख्वाहिशे
दो पल ही सही
स्वाभिमान ऊँची होनी चाहिए
ज़्यादा पोस्ट लोड करें कोई परिणाम नहीं मिला